SS RESULT

वीडियो में दिखने वाले अधिकारी पानीपत के डिप्टी डीएम कमल गिरधर हैं. वो पानीपत में इस योजन का विरोध कर रहे युवाओं को समझा रहे हैं.

खास बातें

  • हरियाणा के पानीपत में प्रदर्शन कर रहे थे युवा
  • अधिकारी ने घर जाने को कहा
  • प्रदर्शनकारियों ने अधिकारी के सामने रखी अपनी बात

नई दिल्ली: केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) के खिलाफ देशभ में प्रदर्शन हो रहे हैं. कई जगहों पर तो इस योजना के खिलाफ युवाओं ने हिंसक प्रदर्शन करते हुए ट्रेन और बस तक को आग के हवाले भी किया है. जबकि कई जगहों प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने बगैर हिंसक हुए शांतिपूर्ण तरीके से अपनी आवाज सरकार तक पहुंचाने की कोशिश की. एक ऐसा ही शांतिपूर्ण प्रदर्शन हरियाणा के पानीपत में देखने को मिला.

पानीपत में प्रदर्शन के दौरान युवाओं और वहां मौजूद अधिकारियों के बीच बातचीत का एक वीडियो भी सामने आया है. इस वीडियो में अधिकारी प्रदर्शन कर रहे युवाओं को ज्ञापन देने और शांतिपूर्वक घर जाने की बात करते दिख रहे हैं, इसके जवाब में कुछ युवा अधिकारी से कह रहे हैं कि सर आप बताइये अगर हमारी जगह आपका बेटा होता तो आप क्या करते. इसपर अधिकारी कहते हैं कि बेटा मैं भी आपके पिता की उम्र का ही हूं.

वीडियो में दिखने वाले अधिकारी पानीपत के डिप्टी डीएम कमल गिरधर हैं. वो पानीपत में इस योजन का विरोध कर रहे युवाओं को समझा रहे हैं. डिप्टी डीएम गिरधन ने कहा कि मैं आपकी बात समझता हूं. लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि आप कानून हाथ में लेकर अपना भविष्य खराब करें. मैं आपको ऐसा नहीं करने दूंगा. आपको इस कानून से जो भी दिक्कत है वो आप हमे लिखकर दे दें. मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि मैं आपकी बात सरकार तक जरूर पहुंचाऊंगा.

30-40 हजार सैलरी, 11.70 लाख फंड… अग्निपथ के जरिए सेना में भर्ती होने वालों को क्‍या-क्‍या मिलेगा

बता दें कि अग्निपथ योजना के खिलाफ हरियाणा में प्रदर्शन जारी है. प्रदर्शनकारियों ने महेंद्रगढ़ रेलवे स्टेशन के बाहर शनिवार को एक वाहन को आगे के हवाले कर दिया था. वहीं, 50 से अधिक प्रदर्शनकारियों के एक समूह ने पड़ोसी राज्य पंजाब (Punjab) में लुधियाना रेलवे स्टेशन में घुसकर संपत्ति को नुकसान पहुंचाया. महेंद्रगढ़ के एक पुलिस अधिकारी ने बताया था कि युवाओं के एक समूह ने एक पिक-अप वैन को आग के हवाले कर दिया और तोड़फोड़ की.

सेना में भर्ती की नई योजना के खिलाफ महेंद्रगढ़ में पिछले कुछ दिनों से जोरदार प्रदर्शन हो रहा था. रेलवे स्टेशन से लगे आवासीय भवन में रहने वाले एक रेलवे इंजीनियर ने बताया कि कुछ प्रदर्शनकारी उनके परिसर के अंदर घुस गये और कार्यालय, व एक जेनरेटर सेट को नुकसान पहुंचाया. पुलिस ने बताया कि पंजाब में कपड़े से अपना चेहरा ढंके हुए 50 से अधिक युवाओं का एक समूह लुधियाना रेलवे परिसर में घुस गया था.

उनमें से कुछ के हाथों में डंडे थे और उन्होंने कांच की खिड़कियों और टिकट काउंटर को तोड़ दिये थे. वहीं जालंधर में युवाओं ने एक मार्च निकाला और बाद में प्रदर्शन किया था. उन्होंने राम मंडी चौक से पीएपी चौक तक मार्च कर राष्ट्रीय राजमार्ग को बाधित कर दिया. उन्होंने केंद्र से अग्निपथ योजना वापस लेने की मांग की.

https://googleindia.org/indian-army-agneepath-scheme/

Leave a Reply