BSNL भारत में अपने 4G लॉन्च टाइमलाइन के करीब है। कंपनी अगस्त 2022 में कन्याकुमारी जिले में 4G सर्विस लॉन्च करेगी। इसमें ऐसे हार्डवेयर का उपयोग किया जाएगा, जो 5G सपोर्ट करने में सक्षम होंगे।

सरकारी टेलीकॉम ऑपरेटर भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) भारत में अपने 4G लॉन्च टाइमलाइन के करीब है। सूत्रों के अनुसार, बीएसएनएल की ओर से 4G लॉन्च अगस्त 2022 के आसपास होगा, और फिर साल के अंत तक बड़े पैमाने पर लॉन्च देखा जाएगा। खैर, अब एक और नई जानकारी सामने आई है, जिसे सुनकर आप भी खुश हो जाएंगे। वो यह कि, अगस्त 2022 में कन्याकुमारी जिले में 4G सर्विस को लॉन्च करने के लिए बीएसएनएल जिस हार्डवेयर का उपयोग करेगा, वह न केवल 4G सक्षम होगा, बल्कि 5G को भी सपोर्ट करने में सक्षम होगा।

द हिंदू की एक रिपोर्ट के अनुसार, बीएसएनएल कन्याकुमारी में नागरकोइल बिजनेस एरिया में मौजूदा 292 मोबाइल टावरों को अपग्रेड करके 4G सर्विसेस शुरू करेगी। इन टावरों को ऐसे हार्डवेयर की सप्लाई की जाएगी, जो बिल्ट-इन 5G क्षमताओं के साथ आएंगे।

बीएसएनएल की क्षेत्र में 300 और टावर जोड़ने की योजना

– पब्लिकेशन की रिपोर्ट के अनुसार, बीएसएनएल क्षेत्र में 300 से अधिक टावर जोड़ने की भी योजना बना रहा है। यह सुनिश्चित करेगा कि नागरकोइल बिजनेस एरिया में उपभोक्ताओं को बीएसएनएल के 4G नेटवर्क का शानदार अनुभव मिल सके।

– लेकिन बीएसएनएल यहीं नहीं रुकेगी। और भी बेहतर कवरेज प्रदान करने के लिए, बीएसएनएल 100 माइक्रो टावर भी जोड़ेगा। इन माइक्रो टावरों को ‘हैवी ट्रैफिक लोड वाले एरिया’ में जोड़ा जाएगा जैसे कि बिजनेस प्लेस, बस स्टैंड, अस्पताल, और अन्य जगहों पर।

सॉफ्टवेयर अपग्रेड से 5G पर स्विच हो जाएंगे टॉवर

– यदि BSNL की प्रत्येक जिले और राज्यों के लिए इस तरह की योजना है, तो वह 4G सर्विसेस शुरू करने जा रही है, तो निजी टेलीकॉम कंपनियों को कड़ी प्रतिस्पर्धा के लिए तैयार रहना चाहिए।

– रिपोर्ट में बताया गया है कि इन टावरों को एक साधारण सॉफ्टवेयर अपग्रेड द्वारा 5G पर स्विच किया जा सकता है, जिसका अर्थ है कि भविष्य में, एक बार जब बीएसएनएल बड़े पैमाने पर 4G स्थापित कर लेता है, तो राज्य द्वारा संचालित टेल्को DoT (दूरसंचार विभाग) से आरक्षित स्पेक्ट्रम ले सकता है और 5G शुरू कर सकता है।

Leave a Reply